Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

TET Certificate Validity Latest News | TET Certificate की वैधता अब आजीवन कर दी गई है

TET Certificate Validity Latest News : TET Certificate की वैधता अब आजीवन कर दी गई है, इस सम्बंध में शिक्षा मंत्रालय ने जारी किया आदेश टीचर बनने के इच्छुक बेरोजगार अभ्यर्थियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। केंद्र सरकार ने Teacher Eligibility Test (TET) के योग्यता प्रमाणपत्र की Validity अवधि को सात वर्ष से बढ़ाकर आजीवन कर दिया है। शिक्षा मंत्रालय ने आज आदेश जारी किया है। अब एक बार TET पास करने पर यह जीवन भर के लिए मान्य रहेगा। शिक्षा मंत्रालय के इस फैसले से शिक्षक की नौकरी का सपना देखने वाले लाखों युवाओं को फायदा होगा।

रीट प्रमाण – पत्र आजीवन वैधता पर विरोध:

राजस्थान में रीट के प्रमाण – पत्र की आजीवन वैधता की कवायद शुरू होते ही एक ओर आजीवन वैधता का समर्थन किया जा रहा है । तो कुछ अभ्यर्थी इसके विरोध में हैं । अभ्यर्थियों का मत है कि CTET की तर्ज पर REET के प्रमाण पत्र की आजीवन वैधता गलत होगी । कारण है कि CTET और REET में काफी अंतर है । राजस्थान में शिक्षक भर्ती के लिए REET का आयोजन होता है
तो सीटेट पास करने वाले अभ्यर्थी सिर्फ शिक्षक भर्ती के लिए पात्र होते हैं । वहीं , राज्य सरकार अब NCTE के नए प्रावधानों का इंतजार कर रही है । विभाग को NCTE का पत्र मिलने के बाद ही आगे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी ।

शिक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा है कि जिन उम्मीदवारों या छात्रों के प्रमाणपत्र की सात वर्ष की अवधि पूरी हो गई है, उनके बारे में संबंधित राज्य सरकार या केंद्र शासित प्रशासन TET की वैधता अवधि के पुनर्निधारण करने या नया TET प्रमाणपत्र जारी करने के लिये जरूरी कदम उठायेंगे । यह व्यवस्था 2011 से प्रभावी होगी।  

आपको बता दें कि स्कूलों में शिक्षक के रूप में नियुक्ति के लिये किसी व्यक्ति की योग्यता के संबंध में Teacher Eligibility Test (TET) का प्रमाणपत्र एक जरूरी पात्रता है। अब शिक्षक बनने के लिए युवाओं को हर सात साल में Teacher Eligibility Test (TET) पास करने की जरूरत नहीं होगी। यह व्यवस्था पूरे देश भर में लागू होगी। आपको बता दें कि TET पास का सर्टिफिकेट अभी तक सिर्फ सात साल के लिए मान्य होता था। 

यानी Teacher Eligibility Test (TET) करने के बाद यदि कोई व्यक्ति सात साल के भीतर शिक्षक नियुक्त नहीं होता है तो फिर से उसे टीईटी परीक्षा पास करनी होती थी। इसी प्रकार नई नौकरी के लिए आवेदन में भी यह प्रक्रिया आड़े आती थी। अब ऐसा नहीं है, एक बार TET पास करने बाद इसका प्रमाणपत्र आजीवन मान्य रहेगा। आपको बता दें कि हर साल केंद्र सरकार या राज्यों द्वारा आयोजित होने वाली टीईटी परीक्षाओं में लाखों उम्मीदवार बैठते हैं। 

Teacher Eligibility Test (TET) परिषद (NCTE) के 11 फरवरी 2011 के दिशानिर्देशों में कहा गया है कि राज्य सरकार Teacher Eligibility Test का आयोजन करेंगी और TET योग्यता प्रमाणपत्र की वैधता की अवधि परीक्षा पास होने की तिथि से सात वर्ष तक होगी । 

CBSE हर साल दो बार सीटीईटी परीक्षा आयोजित करता है। पहली परीक्षा जुलाई और दूसरी दिसंबर के महीने में आयोजित की जाती है। सीटेट के पेपर -1 में भाग लेने वाले सफल उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के लिए होने वाली शिक्षक भर्ती के लिए योग्य माने जाते हैं। जबकि पेपर -2 में बैठने वाले सफल अभ्यर्थी कक्षा 6 से 8वीं तक के लिए होने वाली शिक्षक भर्ती के लिए योग्य माने जाते हैं।

Notification Download- clickhere

Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

Leave a Comment

Join WhatsAppJoin Telegram